राष्ट्रीय वयोश्री योजना

गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले वरिष्ठ नागरिकों के लिए जीवन को आसान बनाने तथा मुक्त सहयोगी उपकरण देने का प्रावधान किया गया है। यह योजना 477 करोड़ रुपए की लागत से क्रियान्वित की जा रही है। इसकी शुरुआत 25 मार्च 2017 को आंध्र प्रदेश के नेल्लोर जिले से की गई।

राष्ट्रीय वयोश्री योजना का मुख्य उद्देश्य आर्थिक रुप से पिछड़े समाज के वृद्ध लोगों को आसान जीवन यापन करने के लिए जीवन सहायता उपकरण प्रदान करना है। वृद्धावस्था विकलांग जैसे कम दृष्टि, कम सुनना, दातों की हानि और गतिरोध विकलांगता से ग्रस्त वरिष्ठ नागरिकों को राष्ट्रीय वयोश्री योजना के माध्यम से सहारा दिया जाएगा।

केंद्र सरकार प्रतिवर्ष हर राज्य में 2 जिलों में शिविर का आयोजन करेगी। सरकार ने राज्य सरकार को इस योजना के लिए लाभार्थियों की पहचान करने के लिए निर्देश दिए हैं।प्रत्येक शिविर में कम से कम 2000 लाभार्थियों को मुफ्त सहायता उपकरण वितरित किए जाएंगे।

प्रथम दो कैंप का आयोजन

25 मार्च 2017 नेल्लोर आंध्र प्रदेश
26 मार्च 2017 उज्जैन मध्य प्रदेश

उपकरण:
कान की मशीन व्हीलचेयर भोकर तिपाई चश्मा डेंजर अन्य उपकरण उच्च गुणवत्ता वाले होंगे और बीआईएस भारतीय मानक ब्यूरो द्वारा निर्धारित मानकों के अनुसार होंगे

मानदंड:
1. लाभार्थी की आयु कम से कम 60 वर्ष होनी चाहिए ।
2. एक सक्षम प्राधिकारी द्वारा व्यक्ति को गरीबी रेखा से नीचे रहने के रूप में प्रमाणित किया जाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *